PNI

POLICE NEWS INDIA

मुंबई के सबसे बड़े ड्रग डीलर Farukh Batata का बेटा Shadab Batata घर से मिली करोड़ों रुपये की ड्रग्स के साथ गिरफ्तार,

मुंबई: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुंबई के सबसे बड़े ड्रग्स सप्लायर फारुख बटाटा (Farukh Batata) के बेटे शादाब बटाटा (Shadab Batata) को बीती रात करीब 2 करोड़ की MD ड्रग्स (Drugs) के साथ गिरफ्तार किया है. NCB ने गुरुवार रात को लोखंडवाला, वर्सोवा और मीरा रोड इलाके में छापेमारी की थी. इस कार्रवाई में NCB ने कई लग्जरी कारों को भी अपने कब्जे में लिया है.

मुंबई का सबसे बड़ा ड्रग सप्लायर है फारुख बटाटा

NCB सूत्रों के मुताबिक फारुख बटाटा (Farukh Batata) का बेटा शादाब बटाटा बॉलीवुड की पार्टियों में ड्रग्स सप्लाई किया करता था. मुंबई में विदेशों से आने वाली ड्रग्स का सबसे बड़ा सप्लायर फ़ारुख बटाटा ही है. NCB की टीम ने उसे मुंबई से सटे मीरा रोड इलाके से 1.60 ग्राम MD ड्रग्स और 61 मेफेड्रिन के साथ गिरफ़्तार किया है. शादाब ड्रग्स की सप्लाई करता था.

शादाब बटाटा के लिए काम करते हैं 30 ड्रग सप्लायर

NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के मुताबिक शादाब बटाटा (Shadab Batata) के लिए पूरे मुंबई में 25 से 30 लोग ड्रग्स (Drugs) सप्लाई और कैश उठाने का काम करते है. शादाब के पास BMW, मर्सिडीज़, ऑडी जैसी महंगी कारें मिली हैं, जिनसे वो ड्रग्स की सप्लाई करता था. NCB के सूत्रों के मुताबिक शादाब बटाटा खुद भी ड्रग्स का शौकीन है और स्वभाव से रंगीन मिजाज बताया जाता है.

ड्रग डीलर शाहरुख के घर से मिली 2 किलो एमडी ड्रग्स

सूत्रों के मुताबिक अंधेरी इलाके की छोटी सी चॉल में रहने वाला 26 साल का शाहरुख उसका ड्रग डीलर था. लोग शाहरुख को कोड नेम बुलेट राजा के नाम से जानते है. इसके पास से NCB को करीब 2 किलो MD ड्रग्स मिली है. इसके अलावा शाहरुख के घर से NCB को नोट गिनने की मशीन और 15 लाख रुपये की विदेशी करंसी भी मिली है.

5 साल में खड़ी कर ली करोड़ों की प्रॉपर्टी

शाहरुख बिहार का रहने वाला अनपढ़ लड़का है. शाहरुख के पास भी 2 करोड़ की जगुआर कार थी, जिसे उसने NCB की कार्रवाई के डर से बेच दिया और फिर 35 लाख रुपये की फार्च्यूनर कार ले ली. शाहरुख को ड्रग्स (Drugs) के इस धंधे में महज 4 से 5 साल ही हुए है लेकिन वो अब इस धंधे से एक आलीशान घर भी लेने वाला था.

शादाब के पास लग्जरी गाड़ियों का बेड़ा

NCB के मुताबिक ड्रग्स की इस चेन में 5 से 6 सप्लायर्स की चैन होती है. मिडिल मैन मैन्युफैक्चर से लेकर टैक्सी में ड्रग्स रख देता है. ये टैक्सी शादाब तक ड्रग्स लाती हैं. आगे की सप्लाई शादाब बटाटा अपने इन 25 से 30 लोगो की मदद से कराता था. NCB के मुताबिक शादाब के पास से फार्च्यूनर, i10 और बलेनो कार बरामद की गई हैं. बाकी गाड़ियों की तलाश की जा रही है.

करीब एक दशक पहले शुरू किया था धंधा

सूत्रों के मुताबिक फारुख बटाटा (Farukh Batata) मुंबई के जोगेश्वरी इलाके में साल 1989 से लेकर साल 2000 तक आलू बेचने का धंधा करता था. यहीं से उसका नाम फारुख बटाटा पड़ा. फ़ारुख बटाटा करीब एक दशक पहले ड्रग्स (Drugs) के कारोबार में उतरा और उसने बहुत पैसा बनाया. फारुख बटाटा के तीनों बेटे भी ड्रग्स के धंधे में उसके साथ जुड़ गए.

फारुख बटाटा की 4 बीवियां हैं

NCB सूत्रों के मुताबिक फारुख बटाटा (Farukh Batata) ने 4 शादियां की हैं. जिनमें से 3 बीवियों को मुंबई से सटे मीरा रोड इलाके में फ्लैट दे रखा है जबकि एक पत्नी को नालासोपारा इलाके में फ्लैट दिलाया है. इसके तीन बेटे हैं जिनके नाम सैफुल्ला, फारुख शेख, सलमान और शादाब बटाटा (Shadab Batata) हैं. फारुख बटाटा बांद्रा से लेकर मीरा रोड तक ड्रग्स की सप्लाई करता है. NCB के सूत्रों के मुताबिक फारुख बटाटा का अवैध गुटखा सप्लाई का भी काम है.